Ticker

6/recent/ticker-posts

ट्रांसपेरेंट मोबाइल कवर कुछ समय बाद पिले क्यों हो जाते है? Why transparent mobile covers turn yellow

दोस्तों आपने अक्सर देखा होगा कि जब भी हम अपने स्मार्टफोन की प्रोटेक्शन के लिए ट्रांसपेरेंट कवर का इस्तेमाल करते हैं तो कुछ ही दिनों के बाद वो ट्रांसपेरेंट कवर ब्राउन होना शुरू हो जाता है और इस ब्राउन कलर को देखकर हम यह सोचते हैं कि शायद हमारे हाथों पर जमी गंदगी जा फिर धूल मिट्टी की वजह से ये सफेद कवर ब्राउन कलर में तब्दील हुआ है। इसके बाद हम ब्राउन कवर को डिटेरजेंट जा फिर साबुन के साथ साफ करने की कोशिश करते हैं कि शायद ये ब्राउन कवर दोबारा से सफेद जा फिर ट्रांसपेरेंट हो जाए, लेकिन ऐसा बिल्कुल भी नही होता। आपका ट्रांसपेरेंट कवर अगर एक बार ब्राउन हो गया तो धोने से भी ये दोबारा सफेद नही होगा बल्कि कुछ समय के बाद ये और ज्यादा डार्क हो जाएगा।


दोस्तो सफेद ट्रांसपेरेंट कवर अपने आप ब्राउन कैसे हो जाते है इसका कारण बेहद इंटरेस्टिंग है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि मार्केट में जितने भी ट्रांसपोर्ट कवर आते हैं, वह सिलिकॉन से बने होते हैं। सिलिकॉन दरअसल एक ऐसा पॉलीमर है जो काफी ज्यादा फ्लैक्सिबल, सस्ता और लंबे समय तक चलता है। इन्ही पैरामीटरों के चलते मोबाइल कवर्स सिलिकॉन से बने होते है। 

सिलिकॉन एक ऐसा पॉलीमर है जो धीरे-धीरे खुद अपने आप को डीग्रेड करना शुरू कर देता है। हमारे वातावरण में मौजूद सोलर रेडिएशन, हीट और ह्यूमिडिटी सिलिकॉन को डीग्रेड करने में सबसे बड़ा रोल प्ले करती है। सिलिकॉन जब इन सभी चीज़ों के संपर्क में आता है तो ये धीरे-धीरे डीग्रेड होने लगता है और इसका कलर सफेद से ब्राउन हो जाता है। तो दोस्तो यही कारण है कि आपके ट्रांसपेरेंट मोबाइल कवर का रंग कुछ ही दिनों के बाद सफेद से ब्राउन होना शुरू हो जाता है।


दोस्तो पोस्ट अच्छा लगा है तो इसे ज्यादा से ज्यादा लाइक और शेयर जरूर करें।



एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ