Ticker

6/recent/ticker-posts

KTM बाइक हिस्ट्री, जानिए KTM बाइक Orange रंग की क्यों होती है?

दोस्तो वैसे तो सड़को पर हमें काफी अच्छी अच्छी बाइक्स देखने को मिलती है, लेकिन KTM की जबरदस्त लुक और स्टाइल के आगे सभ फीकी पड़ जाती है। इस बाइक का निर्माण Johann Trunkenpolz नामक व्यक्ति द्वारा किया गया था, जो कि ऑस्ट्रिया में रहने वाले एक इंजीनियर थे। हम में से बहुत कम लोग KTM की फुल फॉर्म के बारे में जानते है। आपको बतादे की KTM की फुल फॉर्म Kraftfahrzeug Trunkenpolz Mattighofen होती है। आगे मैं आपको इस बाइक की हिस्ट्री से जुड़ी कुछ ऐसी रोचक बातें बताउगा जिनके बारे में शायद ही पहले कभी अपने सुना होगा। आशा करता हु की आपको हमारा ये पोस्ट जरूर पसंद आएगा।


History of KTM

  1. सन 1934 में KTM के निर्माता Johann Trunkenpolz ने एक कार रिपेयर शॉप से अपने करियर की शुरुआत की थी। Trunkenpolz ने अपनी इस शॉप को Kraftfahrzeug Trunkenpolz Mattighofen का नाम दिया। Trunkenpolz अपनी इस शॉप में बाइक्स और कारों की रिपेयर और सेल दोनों का काम करते थे। आपको बता दे कि जिस समय Trunkenpolz ने ये बिज़नेस शुरू किया था उस समय वर्ल्ड वॉर 2 चला हुआ था और जैसे ही वर्ल्ड वॉर 2 खत्म हुआ तो ऑस्ट्रिया में इकनोमिक ग्रोथ बढ़ने लगी और Trunkenpolz का ये बिज़नेस भी रफ्तार पकड़ने लगा। देखते ही देखते ये बिज़नेस पूरे ऑस्ट्रिया में फैल गया।
  2. सन 1951 में Trunkenpolz ने अपने सेल और रिपेयर की नॉलेज से खुद मोटरसाइकिल बनाना शुरू कर दिया। Trunkenpolz चाहते थे कि जो लोग कार नही खरीद सकते वो उनके द्वारा बनाया हुआ मोटरसाइकिल खरीद सकते है। सन 1953 में R100 नामक पहला मोटरसाइकिल लांच किया गया, जिसे 20 लोगो की टीम द्वारा बनाया गया था। 
  3. R100 एक 98cc 2-स्ट्रोक लाइटवेट मोटरसाइकिल थी जिसने रेसिंग इवेंट्स में आश्चर्यजनक रूप से अच्छा प्रदर्शन किया। इसके बाद Trunkenpolz और उनकी टीम ने सन 1953 में 5वीं Gaisberg Hillclimb प्रतियोगिता के दौरान R100 को प्रस्तुत किया। अपने उत्पादन के एक वर्ष  बाद, R100 ने अपेक्षा से परे प्रदर्शन करते हुए KTM की पहली रेसिंग गतिविधियों में पहले तीन स्थानों पर जीत हासिल की।
  4. KTM की पहली रेसिंग जीत के एक साल बाद, R100 के 125cc मॉडल ने ऑस्ट्रियन नेशनल चैंपियनशिप में हिस्सा लिया और रेसिंग कॉम्पिटिशन में पहला स्थान हासिल किया । इस रेस की सफलता ने KTM के 125cc टूरिस्ट मॉडल को दुनिया के सामने पेश किया और देखते ही देखते KTM रेसर्स की पहली पसंदीदा बाइक बनने लगा।
  5. सन 1957 में KTM ने अपनी पहली स्पोर्ट्स बाइक लॉन्च की जिसका नाम 'द ट्रॉफी' रखा गया। इसके बाद सन् 1960 और 1962 के बीच केटीएम दोबारा पोनी और कॉमेंट के नाम से दो मोपेड लॉन्च करी गई। सन 1974 में KTM के 250cc मॉडल ने FIM Motocross GP रेसिंग में पहला खिताब जीतकर पूरी दुनिया को अपना फैन बना लिया।
  6. इसके बाद सन् 1994 में KTM ने अपना पहला DUKE मॉडल दुनिया के सामने पेश किया जो उस वक्त कंपनी का सबसे पॉपुलर मोटरसाइकिल था। कंपनी ने इस मॉडल को ऑरेंज कलर में लांच किया। ऑरेंज कलर में बाइक लांच करने कंपनी का एक अहम फैसला था। कंपनी चाहती थी कि उनके ब्रांड की एक अलग पहचान हो और लोग दूर से देखकर ही उनकी बाइक्स को पहचान लें। 
  7. दोस्तो KTM बाइक्स का भारत से रिश्ता काफी मजबूत है।साल 2007 में KTM ने भारत की जानी मानी कंपनी बजाज ऑटो के साथ पार्टनरशिप की थी। उस वक्त KTM में बजाज ऑटो के 14.7 % शेयर थे जो अब बढ़कर 49 प्रतिशत हो चुके हैं। KTM Bike के 365 भारतीय शहरों में कुल मिलाकर 460 स्टोर्स मौजूद हैं।
  8. भारत में KTM की सबसे पहली बाइक Duke 200 थी जो साल 2012 में लांच हुई थी। इसके बाद केटीएम 390 Duke की बिक्री साल 2013 से शुरू हुई थी। KTM Bike के शुरुआती मॉडल 125cc Duke की कीमत लगभग 1.50 लाख के आसपास है। इसके अलावा KTM Bike की रेंज में सबसे महंगी बाइक 390 Adventure है, जिसकी कीमत 3 लाख 20 हजार के आस पास है। दोस्तो KTM बाइक्स का Price इतना ज्यादा होने का एक कारण है। असल में KTM रेसिंग बाइक्स बनाता है, जिसके कारण इसके मोटर काफी स्ट्रांग होते हैं और रोड पर चलाने पर यह स्पोर्ट्स बाइक काफी आरामदायक रहती है।

एक टिप्पणी भेजें

0 टिप्पणियाँ